सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

धर्म (१)

आज 9/04/2020 गुरुवार का दिन भारत में कोरॉना महामारी के लोक डाउन के 22 ई सवा दिन है
इतिहास गवाह है कि जब भी हमारे देश पर या समुल विश्व
कोई संकट आया है तो उसके समाधान के लिए भारतवर्स
हमेशा आगे आया है और आज भी इस महामारी को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है ए भारत भूमि
पर आज के समय जो हमारी विडम्बना है वो भूत काल में कम देखने को मिली है।
पर आज भी हम हजारों भाषाओं अलग अलग रहन सहन होते हुए भी इस संकट में एक नजर आ रहे हैं
जानतें हैं इनस भी का कारण क्या हैं
वो हैं हमारा धर्म ,.....
क्यों कि पूरे विश्व में हमारी सनातन धर्म ही समस्त मानव जाति ए वेम् जीव जन्तु , पशु पक्षी पेड़, को ही अपना देवता
मानता है इस लिए इस धर्म में  चौरसी लाख देवी देवता हैं  ए सत्य हैं इसको को तोड़मरोड़ के पेस करते हैैं
उन्हें इस धर्म के बारे में पता नहीं है या तो दूसरे अनुआयिओ
को देख कर ए समझते हैं कि उनका एक है तो हमारा इतना क्यों  तो उन जानकारों को हम बता दें कि ए बात सत्य है कि
परमात्मा एक ही है पर उस परमात्मा में तीन अंश
और उसी तीन अंशो से इस संसार में जन्म मृत्यु लय प्रलय
का संचार होता है
जिससे इस संसार का संतुलन बना रहता है
अगर आज कोरोना महामारी का संकट इस संसार पर आया है तो दूसरी ओर हमारी प्राकृति जल वायु  आकाश अपने
आप को सही ढंग से वेवस्थित कर रहें हैं ताकि आने वाले समय में एक नई शुरुआत करने में मदद कर सकें और ए सब
होने पर कुछ परेशानियां मृत्यु रूपी समय मनुस्य को सहना ही पड़ेगा यही सत्य है
रही बात  चौरासी  लाख देवी देवता के बारे में जो बताने या कहने से हिचकिचाते हैं तो उनको बता दू कि
हमें अपने देश में अपने। धर्म के विषय पर स्कूल विद्यालय में
पाठ क्रम में अनिवार्य रूप से शामिल किया जाए।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Covid19.mhpolice.in

Covid19.mhpolice.in

Bollywood, Hollywood, actor IRFAAN KHAN

Irfan khan परिचय (introductions) पूरा नाम , साहेबजादे   इरफ़ान अली खान जिसको आसान भाषा में फिल्म जगत में इरफ़ान खान से जाना गया । इरफ़ान खान एक मुस्लिम परिवार  जयपुर में एक मध्यम परिवार पठान जाति में  पैदा हुए । भारत का वो जयपुर  शहर जिसे गुलाबी सिटी के नाम से भी जानते हैं । इनकी जीवन साथी का नाम सुतापा सिकंदर है को  कालेज के दिनों से इनकी साथी रहीं। इनके आज दो बच्चे हैं जिनका नाम बाबिल और अयान है । इनके पिता का नाम जहांगीर खान  जो टायर का कारोबार करते थे  लगभग १९७७ में जन्में इस महान व्यक्ति 53 साल 29/04/2020 में स्वर्गवास हो गया आज Bollywood का ये  सितारा दुनिया को अलविदा कह गए  भगवान इनकी आत्मा को शांति दे । इरफ़ान खान की परिवारिक जिंदगी (Irfan Khan's family life) इरफ़ान खान की family Life बहुत ही साधारण थी  अपने किशोर अवस्था इन्होंने घर पर ही पढ़ाई पूरी  की इनके पिता  कभी कभी मजाक में इनको इरफ़ान पंडित भी कहकर बुलाते थे। क्यों कि ये मुस्लिम परिवार में होकर नहीं  मांस, नहीं खाते थे। इनका पूरा जीवन शहाकरी व्यतीत किया। उनकी दिली तमन्ना थी

Nathu ram godse

सुप्रीम कोर्ट से अनुमति मिलने पर प्रकाशित किया गया  60 साल तक भारत में प्रतिबंधित रहा नाथूराम गोडसे  का अंतिम भाषण -