सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Heroes in Lockdown



Sonu sood baiografy



कुछ आर्मा अभी हैं बाकी , 
कुछ कदम चलना अभी है बाकी।
किस, किस के साथ चलु मै 
कुछ कदमों को उनके मंजिलों 
पर पहुंचाना अभी है बाकी।।
कहने को तो पर्दे पर 
हर किरदार में खलनायक हू मै
पर मरने से पहले नायक  के 
किरदार में जीना है बाकी ।।
मेरे जाने के बाद बच जाएगी 
मेरे हिस्से की कुछ खुशी 
बस उसे अपनो में बिखेरना है बाकी ।।

ये पंक्तियां उस शक्स को कुर्बान जो इस २०२० के कोरोना
Covid 19 के महामारी में अपने काम से हर दिल में एक जगह बना ली चाहे वो बड़ा , बुजुर्ग , बच्चा , अमीर , गरीब जो भी हो आज उस उस इंसान को फिल्मों में उसके खलनायक के किरदार को असल जिंदगी में नायक के रूप में याद कर रहा है 
और वो ना ही किसी नेता का बेटा ,ना ही कोई बहुत बड़ी हस्ती 
बस फिल्मों मै साइड रोल निभाने वाला एक इंसान है ।
पर कहते हैं इरादे मजबूत हो तो दिल में कुछ अच्छा करने का जज्बा हो तो दुनियां की सारी दुखें , अर्चने, उसके आगे बाउनी 
हो जाती हैं ।
हम बात कर रहे हैं दबंग के छेदी सिंह , सोनू सूद की 
जिसने covid 19 के महामारी में उन मजदूरों , लाचार लोगों को जो गांव से शहर कमाने कमाने आए थे , और लॉक डाउन में फस गए थे , उनको उनके घर तक छोड़ने तक ही नहीं खाना 
भी खिलाने का काम सोनू सूद ने जो किया । वो उन बड़े लोगों 
के मुंह पर एक तमाचा है जो करोड़ पति , अरबपति हैं जो सिर्फ पैसे के बारे में ही सोचते हैं ।
चाहें वो फिल्मी हस्ती , हो या कोई राजनीतिक दल 
कहते हैं सत्तर साल से सत्ता में रही congrees
पार्टी के पास चार हजार करोड़ की संपत्ति है ।
पर इस महामारी में अपनी राजनीति चमकाने के अलावा कुछ नहीं किया ।
आज बारह हजार लोगों। को। उनके घर तक छोड़ने का जो काम सोनू सूद ने किया है ये , काम इन राजनेताओं के लिए 
कुछ भी नहीं है पर एक सोच का फर्क है जो उनके पास नहीं है 
इस लेख में हम सोनू सूद के जीवन के बारे में कुछ जानेगें
कि कैसे वो एक कपड़े कि दुकान से फिल्मी दुनिया में 
आए और विलेन का काम करते , करते आज इस महामारी 
में लोगो के दिलों में रियेल हीरो बन गए ।


कौन हैं ये सोनू सूद


सोनू सूद एक माध्यम पंजाबी परिवार में जन्मे हैं 
इनका जन्म पंजाब के मोगा में हुआ है 
इनके पिता नाम शक्ति सागर और माता का नाम सरोज सागर 
है जो इस दुनियां में नहीं हैं। इनके पिता के पास कपड़े की एक दुकान थी जिससे सोनू सूद की पढ़ाई और घर के खर्चे 
आराम से चल। जाते थे ।
बचपन में सोनू सूद पढ़ने में बहुत तेज थे ।
इसलिए अपने माता पिता के बहुत लाडले थे ।
इनके माता पिता ने इनकी पढ़ाई अच्छी होने के कारण नागपुर के इंजिनियर कॉलेज में एडमिशन करा दिया ।
इनके पिता नहीं चाहते थे कि मेरा  बेटा कपड़े की दुकान संभाले , उनकी इच्छा थी में पढ़ लिख कर मेरा बेटा एक अच्छी 
नौकरी करे ।
पर सोनू सूद के अंदर एक्टिंग का भूत सवार था 
इन्होंने कई सालो तक मुंबई में इस्ट्रागल किया ।
वो मुंबई में एक किराए के मकान में रहते थे , काफी दिनों तक
संघर्ष करने के बाद एक तमिल फिल्म में अदाकारी का मौका मिला । पर इस फिल्म से कुछ खास पहचान नहीं मिली ।
2001 में  आई हिंदी फिल्म शाहिदे आजम में अभिनय करने 
का मौका मिला और इस फिल्म में उनके अभिनय को बहुत पसंद किया गया , इसके बाद उन्होंने युवा से लेकर सुटाउट बड़ाला, दबंग, सिंभा आदि से अच्छी सोहरात पाई 
सोनू सूद , ने कई भाषाओं की फिल्मों में अभिनय किया 
उनके खलनायक के अभिनय को बहुत पसंद किया गया ।
इतना ही नहीं इन्होंने हॉलीवुड की फिल्म kunfu yoga
में भी jaiki chain के साथ काम किया ।
इनको विलेन के रोल के लिए और फिल्म में सपोर्टिंग एक्टर के लिए कई फिल्म अवॉर्ड के सम्मानित किया गया है ।

सोनू सूद की वैवाहिक जीवन


सोनू सूद ने अपने क्लास मेट सोनाली नाम की लड़की आज 
इनकी वाइफ है जिनका बॉलिवुड में दूर, दूर तक कोई रिश्ता नहीं है ।
सोनू सूद बॉलीवुड में आने के पहले 1996 में ही शादी 
कर ली ।
आज इनके दो बेटे हैं जिनका नाम इसांशु और अयांशु है 
सोनू सूद एक अभिनेता होने के साथ साथ एक 
फैमिली हेड भी हैं वो अपने फैमली पूरा समय देते हैं 
इसलिए इनकी पत्त्नी और बच्चे इन्हे ज्यादा प्यार करते हैं ।
सोनू सूद अपने घर को एक मंदिर की तरह मानते हैं।
क्यों की उस घर में अपने माता पिता के साथ ज्यादा समय 
बिताए हैं ।

सोनू सूद का समाजिक कार्य


सोनू सूद अभिनय के साथ साथ लोगों की मदद करने में 
ज्यादा विश्वास रखते हैं ।2020 के महामारी के समय में 
वो अपने पिता के नाम से एक संस्था चला रहे है जिसमें हर रोज 45000 लोगों का भोजन कराते हैं ।
इसके अलावा covid 19 में काम कर रहे स्वस्थ कर्मियों के 
ठहरने के लिए जुहू स्थित अपने शक्ति सागर होटल को  खोल दिए हैं ।
सोनू सूद ने मुंबई से अलग राज्यों में मजदूरों को भेजने के 
लिए 40 बसो का इंतजाम किया साथ। में खाना पानी के साथ घर भेजा ।
इसके अलावा दूसरे राज्यों में फसे लोगों को उनके एक ट्वीट 
पर उनको उनके घर पहुंचा रहे हैं ।
आज भारत ही नहीं पूरी दुनियां इनके काम  की सराहना कर रही है ।












टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Covid19.mhpolice.in

Bollywood, Hollywood, actor IRFAAN KHAN

Irfan khan परिचय (introductions)पूरा नाम , साहेबजादे  इरफ़ान अली खान जिसको आसान भाषा में फिल्म जगत में इरफ़ान खान से जाना गया । इरफ़ान खान एक मुस्लिम परिवार  जयपुर में एक मध्यम परिवार पठान जाति में  पैदा हुए । भारत का वो जयपुर  शहर जिसे गुलाबी सिटी के नाम से भी जानते हैं । इनकी जीवन साथी का नाम सुतापा सिकंदर है को  कालेज के दिनों से इनकी साथी रहीं। इनके आज दो बच्चे हैं जिनका नाम बाबिल और अयान है । इनके पिता का नाम जहांगीर खान  जो टायर का कारोबार करते थे  लगभग १९७७ में जन्में इस महान व्यक्ति 53 साल 29/04/2020 में स्वर्गवास हो गया आज Bollywood का ये  सितारा दुनिया को अलविदा कह गए  भगवान इनकी आत्मा को शांति दे । इरफ़ान खान की परिवारिक जिंदगी (Irfan Khan's family life)
इरफ़ान खान की family Life बहुत ही साधारण थी  अपने किशोर अवस्था इन्होंने घर पर ही पढ़ाई पूरी  की इनके पिता  कभी कभी मजाक में इनको इरफ़ान पंडित भी कहकर बुलाते थे। क्यों कि ये मुस्लिम परिवार में होकर नहीं  मांस, नहीं खाते थे। इनका पूरा जीवन शहाकरी व्यतीत किया। उनकी दिली तमन्ना थी कि वो एक सफल क्रिकेट बने  और उसके लिए उन्होंने कोशिश भी और उन्…
Loved boy (rishi Kapoor) दुनिया को अलविदा किया बॉली वुड का एक और सितारा(rishi Kapur)


परिचय (introdaction) Bollywoo के नीव कहें जाने वाले कपूर फैमिली  के 4 सितम्बर 1952 को जन्मे ऋषि कपूर का  मुंबई के रिलायंस हॉस्पिटल में आज 30/04/2020 को सुबह 8.30 बजे 67 साल की उम्र में निर्धन हो गया  दो साल से वो बांन कैंसर से पीड़ित थे जिसका इलाज  अमेरिका में चल रहा था कुछ दिन पहले वो मुंबई  अपने घर चले आए थे । परिवारिक जिंदगी (family Life)ऋषि कपूर का पारिवारिक जिंदगी बहुत ही अच्छा और  प्रसिद्ध कपूर फैमिली से जुड़ा था । वहीं कपूर फैमिली  जिसने बॉलीवुड को एक नए मुकाम पर ला कर खड़ा किया उनके दादा prithavi राज कपूर और पिता राज कपूर  जो बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता और निर्देशक थे इनके अलावा इनके दो भाई रणधीर कपूर और राजीव  कपूर इनके परिवार में शामिल थे जिनके साथ इन्होंने  कंपियान स्कूल मुंबई और  मेयो कॉलेज अजमेर से शिक्षा ग्रहण किया । इनके परिवार के साथ इनके मामा प्रेम नाथ और राजेंद्र नाथ चाचा शशी कपूर और शम्मी कपूर भी इनके परिवार का कहे  या फिर बॉलीवुड फैमिली का एक हिस्सा थे  इनकी दो बहने रितु नंदा और रीमा जैन एक निर्देशक औ…